यह ब्लॉग खोजें

मंगलवार, मई 17, 2011

खामोश................

कीमत पेट्रोल की बढ़ रही
कितनी रफ़्तार से
कराह रही है जनता
महंगाई की मार से
वोह तो विदेशी है
शिकायत नहीं उनसे
खामोश इस कदर रहेंगे
यह उम्मीद न थी सरदार से

NADAN

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें