यह ब्लॉग खोजें

मंगलवार, मई 17, 2011

दिल खोल के लूटो OFFER

न गरीबी हटाने के लिए
न आतंकवाद मिटाने के लिए
वो आये चुनाव मैदान में
सरकारी खजाने के लिए.............

नादान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें